Web Application Kya Hai? | What Is Web Application In Hindi

0
139
Web Application Kya Hai?
Web Application Kya Hai?

Hello Friend’s क्या आप ये जानना चाहते है कि Web Applications क्या होती है? वैसे बहुत से लोगों को Website के बारे में तो पता होता ही है , पर बहुत से लोगों को Web Application के बारे में नही पता होता है।

आज इस आर्टिकल में हम आपको Website और Web Applications दोनो के बारे मे जानकारी देंगे। बहुत से लोग इन दोनों को लेकर बहुत Confuse रहते है। आपकी इस Confusion कप आज हम दूर करेंगें। तो चलिए जानते है कि Web Application क्या होती है :- Web Application Kya Hai?

Web Application क्या है? – What is Web Application In Hindi

Web Application या फिर आप Web App भी बोल सकते है ये एक तरह के Software Program होते है जिनको के किसी Specific Functions को Run कराने के लिए बनाया जाता है।

एक Web Server में Traditional Desktop Applications के Opposite, जैसे कि आपके Operating System में Launch किया जाता है ,वैसे ही Web Apps को Access किया जाता है Web Browser के Help से। ये Web Server पर Store होते है और जब Client Request करता है तो इनको Web Browser पर Execute किया जाता है।

Web Apps को बनाने के लिए Scripting Language का Use किया जाता है। जैसे कि PHP, ASP और Client Side Scripting Language जैसे कि HTML, JQuery, Javascript etc ये सारी Language Include है।

Web Application के कुछ Example – Example Of Web Applications

  • Facebook : ये एक Web App है , जिसका Use तो आप हर रोज करते होंगे ये एक Social Media Site है।
  • Gmail : ईमेल Send और Recieved करना Gmail से बहुत ही आसान है। और यह वेब एप्लीकेशन का एक अच्छा Example है।
  • Google Docs : इसके Help से हम Online Documents को Create कर सकते हैं फिर उन्हें Download कर सकते हैं, प्रिंट कर सकते हैं या Google Drive में Save करके रख सकते है।
  • Pixlr : ये एक Online Image Editing Website है यहाँ पर आप अपनी फोटो को अपलोड कर Edit कर सकते हैं।
  • Netflix : Online Video Streaming के लिए इसका सबसे ज्यादा Use होने लगा है। इससे आप अपनी मनचाही Video Series कभी भी कहीं भी देख सकते है।
  • Codepen :

वेब एप्लीकेशन कैसे काम करता है? how a web application works?

तो चलिए जानते है की Web Application कैसे काम करती है ? हम आपको Step By Step बताएंगे।

  • Step 1 : पहले Process में Client यानि की जो User होता है वो अपने Browser से एक Web Server को किसी Content या किसी Page के लिए Request करता है।
  • Step 2 : उसके बाद Web Server उस Request को Application Server को Send कर दिया जाता है , जहाँ पर भी वो Content Available होता है।
  • Step 3 : उसके बाद Application Server Request के According Task को Perform करता है और Results को Web Server को Send कर देता है।
  • Step 4 : Finally Web Server उस Data को Client के Web Browser में Send कर देता है।

वेब एप्लीकेशन के क्या फायदे हैं? – Advantages of Web applications in Hindi

  • सबसे अच्छी बात ये है की इसके लिए कुछ भी Install करने की जरुरत नहीं पड़ती है।
  • ये Browser Based है और ये Operating System पर भी Depend नहीं होता है। ये Multiple Platforms पर भी बहुत Easily चल जाता है।
  • Space लेने का कोई Issue नहीं होता है, क्योँकि ये User के हार्ड डिस्क में स्टोर नही रहता है।
  • वैसे Mostly Web Applications को Run कराने के लिए ज्यादा RAM और अन्य Specifications की जरुरत नहीं होती है।
  • इसमें Maintenance Cost भी कम लगती है इसी वजह से ये हर किसी Organization के लिए सस्ता होता है।
  • इसमें Software Privacy जैसी समस्याएं भी कम देखने को मिलती हैं।

वेब एप्लीकेशन के क्या नुकसान हैं? – Disadvantages of Web Applications in Hindi

  • ये Operating System पर काम नहीं करता है इसलिए इसमें System Resources जैसे Memory, cpu, file system आदि को Access करने में कुछ Limitations देखने को मिलती है।
  • इसके लिए इन्टरनेट कनेक्शन का होना जरुरी है।
  • इसका Responsive होना बहुत जरूरी है ताकि ये सारे Devices में Show हो सके जैसे की Desktop, Tablet, Mobile जिससे की किसी भी User को परेशानी न हो।

वेबसाइट और वेब एप्लीकेशन में क्या अंतर है? – Difference Between Website and Web Application in Hindi

लोगों में ये बहुत Confusion रहता है की Website और Web App में क्या Difference है ? तो हम आपको बताते है की इनके बीच क्या Difference है ? अगर हम Internet के जरिये कुछ भी Search करते है और जो भी Result हमको Show होता है ,उसे भी हम एक Website बोल सकते है। एक Web Application को Website भी बोला जाता है।

लेकिन फिर भी इनमे कुछ कुछ न Difference होता ही है। लेकिन फिर भी इनमे कुछ कुछ न Difference होता ही है। जैसे की Website Informational होती है और Web Application Interactive होती है।

  • Website का Main Motive होता है Visitors को Information Provide करना जैसे की Company या किसी Product या किसी Services के बारे में Information बताना।
  • Web Application का Main Motive होता है User से Input लेना जैसे की Visitors से Newsletter Subscribe करवाना , Online Image Edit की Services देना।
  • Website का पूरा Content Static होता है।
  • Web Apps के Content Dynamic होते है , और कभी कभी किसी किसी Website में Content Static भी होता है।

Conclusion

इस Tutorial में, हमने आपको बताया है Web Application क्या है? किसलिए Use किया जाता है ? इसके क्या Features और Advantage और Disadvantage है जिसकी वजह से इतनी Popular है। उम्मीद है यह लेख आपके लिए Helpful रहा होगा । अगर आपको मन में Web Application से Related किसी भी तरह के कोई भी Question है तो आप हमें नीचे Comment कर पूछ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here