Sorting Techniques in Hindi – Sorting Techniques Kya Hai?

0
100
Sorting Technique in Hindi

Sorting Techniques in Hindi – Sorting Techniques Kya Hai? : – Hello Friends ! आज के इस आर्टिकल में हम आपको Data Structure से Related ही कुछ बताने जा रहे है , जिसका नाम है Sorting Techniques

इस आर्टिकल में हम आपको Sorting Techniques की पूरी जानकारी देने वाले है जैसे Sorting Techniques क्या है , ये कितनी तरह की होती है और इनका क्या काम होता है।

तो चलिए Start करते है और जानते है की Sorting Techniques in Hindi

इन्हे भी पढ़े : –

Sorting Techniques in Hindiसॉर्टिंग क्या है?

Data Structure में Sorting एक ऐसे Technique है , जिसकी Help से हम Data को एक Sequence और Logical Order में Arrange कर सकते है।

ये Order Ascending या फिर Descending दोनों में से कोई भी हो सकता है। Descending और Ascending का मतलब तो आपको पता ही होगा।

Sorting का मतलब (searching) से मिलता जुलता है , जैसे हम अपनी रोजाना की जिंदगी में कितनी चीज़े Search करते है जैसे की कभी Google पर या कभी Books में और कभी Contact List में Phone Number और भी बहुत कुछ हम Search करते रहते है।

Types of Sorting in hindi | Types of Sorting in Data Structure in Hindi

  1. Internal sorting
  2. External sorting
  3. In place sorting
  4. Stable sorting

Internal sorting

Internal Sorting में Main Memory की Need होती है साइज ऑफ़ डाटा को Sorted करने के लिए और इसमें Operation उसके बाद Perform करता है जब Data को Main Memory Provide की जाती है। internal sorting कुछ इस तरह की होती है।

1:- bubble sort
2:- insertion sort
3:- quick sort
4:- heap sort
5:- selection sort

Bubble sort in Hindi – बबल सॉर्ट क्या है?

Bubble Sort एक बहुत ही Easy Sorting Technique में से एक है , जिसके अंदर Starting के दो Elements को Compare किया जाता है। अगर Left वाला Element Right वाले Element से बड़ा है तो वो अपने जगह को एक दूसरे से Exchange कर लेते है , और इस तरह ये Comparison Last तक चलता रहता है।

Bubble sort algorithm in hindi

Bubble Sort को Implement करने के लिए बहुत सारी Algorithm का Use किया जाता है।

(bubble sort) BUBBLE (a,n)
यहाँ a एक array है जिसमें n elements है.

step 1:- repeat step 2 & 3 for k = 1 to n-1 (no. of passes)

step 2:- repeat step 3 for p = 1 to n-k (no. of comparisions)

step 3:- check if (a[p] a>[a+1]) then
interchange a[p] to a[p-1]
end of if structure
end of step 2 loop
end of step 3 loop

step 4:- exit

External Sorting

External Sorting Internal Sorting का ही Counter Part होता है और External Sorting में Main Memory की Need नहीं होती है इसको पर्फोर्म करवाने के लिए। इसको Perform करवाने के लिए External Setting का Use किया जाता है।

Advantage of Sorting in Hindi | Advantage of Sorting in Data Structure in Hindi

  • Sorting के Help से आप बहुत सारे Data को थोड़े ही समय में आसानी से Sort कर सकते है।
  • Sorting की Help से आप Data को Easily Search भी कर सकते है।
  • इसके अंदर Data को Ascending और Descending दोनों तरीके से Sort कर सकते है।

Conclusion

इस आर्टिकल में हमने आपको Sorting Techniques के बारे में बताये। उसके साथ साथ Sorting Techniques का Use क्यों किया जाता है? Sorting Techniques Types in Hindi उम्मीद है आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। Sorting Techniques से जुड़ा कोई भी सवाल आपके मन में है तो आप हमे Comment करके पूछ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here