Server Kya Hai ? और यह कैसे काम करता है ? | Types of Server

0
153
server kya hai
server kya hai in hindi

आज के इस Important Article में हम जानेंगे की Server kya hai और यह कैसे काम करता है ? Internet पर सर्वर का क्या काम है और ये क्या होता है कैसे काम करता है . कई बार आपने देखा होगा जब कभी भी हम bank में किसी काम से जाते है, तो वह अक्सर ये बोला जाता है, कि server down है या server error आ रहा है. technology के world में Server Word की शुरुवात तो काफी साल पहले ही हो चुकी है.

इस article हमने आपको सर्वर के बारे में पूरी जानकारी दी है, जिसे पढ़कर आप सर्वर के बारे में सब कुछ अच्छी तरह से जान जाएंगे. तो चलिए अब जानते है Server क्या है और यह कितने प्रकार के होते है?

Server क्या है ( What is Server in hindi )

Server या web server एक ऐसा computer system होता है जो की ek वेबसाइट को run करता है या उसको internet पर चलाता है। ये एक computer program होता है जो की वेब pages को divide कर देता है जैसे ही उन्हें request किया जाता है। Web server का जो main काम होता है वो ये की वो website के pages को store करके रखता है, उन्हें process करता है और last में user तक उस web page को deliver करता है।

एक सर्वर को आप ऐसे समझ सकते है जैसे ये एक Computer program या device है. जो बाकी और कंप्यूटरों को data provide करने का काम करता है। ये system को Local Area Network (LAN) या internet पर Wide Area Network (WAN) पर data provide कर सकता है. Server को हम network पर computer का एक part भी समझ सकते है, जो network resources को manage करने का काम करता है।

Server का काम होता है Internet के users की help करना मतलब की users को वो सभी information provide करना जो वो जानना चाहते है. आपने देखा होगा जब हम YouTube में videos देखते हैं या फिर कभी कोई information search करते है अपने device में किसी भी web browser में जाकर तो हमे जो भी results show होते है अपने device पर तो इसका मतलब है कि उस website या youtube channel का data कहीं ना कहीं किसी जगह पर store हो रखा है जो server हमारे request करने पर हमें information provide करता है.

ये कई तरह के होते है, इसीलिये इनके काम करने का तरीका भी अलग होता है और अलग अलग server का काम भी अलग-अलग होता है। for example – File server – इसे आप Storage device भी बोल सकते है, यह files को store करने का काम करता है। internet पर जितनी भी site available है और उनका जो data फिर चाहे वो website data, youtube videos, photos, images, PDF कुछ भी हो यह सब file server में store रहता है.

इन्हे भी पढ़ें-

सर्वर के प्रकार (Types of Server)

सर्वर कई types के होते है. Different server अलग – अलग तरह से काम करते है. website hosting से लेकर internet networks की security और email, video इन सभी सभी काम को एक सर्वर के through ही किया जाता है।

Web Server :

यह एक server software या Hardware होता है जो की Websites run करने में help करता है. इसको computer program भी कहा जाता है इसका main काम users के लिए web pages को store करना , process और deliver करना होता है. इसमे अंदर communication करने के लिए hypertext transfer protocol (HTTP) का use होता है |

Internet पर जितने भी वेबसाइट हैं उनका सभी डाटा web servers में स्टोर किया जाता है. वेब सर्वर वेब ब्राउज़र के through हमें वेब pages को दिखाता हैं. जब भी कोई user वेब ब्राउज़र जैसे chrome, mozilla, internet explorer, को open करता है या किसी वेबसाइट के url address को डालता है तो वेब सर्वर्स के पास उसकी request जाती है और ये user को वेब ब्राउज़र की help से उनके device में डाटा या information भेज देता है.

Application Server :

Application Server, एक ऐसा program है जो users और organization के Back-end business application या database के सभी application operation को handle करता है .ये एक ऐसा framework है, जहाँ सभी applications को develop करने और चलाने के लिए एक application server का use किया जाता है. ये कई प्रकार के होते है for example – PHP, Java और .NET framework.

Proxy Server :

इसको हम “proxy” भी बोलते है. ये user और internet के बीच में एक gateway के रूप में काम करता है. जब भी कई user या client, proxy server से जुड़ता है और किसी भी तरह की information या सेवा के लिए request करता है. जैसे किसी web-page के लिए या किसी भी तरह की information के लिए तो ये उस request को easy करने और उसकी problem को control करने के तरीके का Evaluation करता है.

File Server :

Basically किसी भी network के अंदर file के data को store करके रखने का space provide किया जाता है | ये files कुछ भी हो सकती है for example text document , images , videos सभी को server model में एक file server को ही computer कहा जाता है. क्योंकि ये सारे data files को store और secure रखता है।

Database Server :

ये एक computer system है जिसका काम होता है database से data को access करने और दुबारा से data को recover करने में help करना होता है. ये एक तरह से warehouse के जैसा है, जहां website के data और उसकी information को store करके और maintain किया जाता है।

Mail Server :

ये एक ऐसा server है, जो internet में एक network पर email को handle करता है और deliver करने का काम करता है. Mail server को mail server transfer agent (MTA) या internet mailer भी बोलते है. हर email जो हम send करते है वो मेल सर्वर की एक series से होकर निकलती है. हम और आप जब भी कोई email send करते है, तो वो एक sec में दूसरे तक पहुंच जाता है. लेकिन mail transfer का ये process बहुत ही complex होता है।

FTP Server :

FTP पूरा नाम File transfer protocol है, जिसका काम online file transfer करना का होता है. जब कभी भी आप web browser पर किसी web-page या किसी information के लिए request करते है, तो ब्राउज़र इसी protocol का use करता है आपके उस page या information को आपके सामने लाने में. FTP world के किसी भी computer में files को transfer करने का एक सबसे बड़ा तरीका है, जो की सिर्फ इंटरनेट से जुड़ा है.

सर्वर कैसे काम करता है ?

सर्वर कैसे काम करता है ये समझने के लिए हम आपको एक example से समझते है। मान लीजिये की आपने गूगल ओपन किया है उसमे आपने bloomtutorial.com टाइप कर के सर्च किया तो आपने जो भी search किया है उस पर एक request generate होगा जो इंटरनेट केthrough सर्वर पर जाएगा. अब वहां पर आये हुए request को यानि bloomtutorial.com को सर्वर निकाल कर उसका डाटा आपके मोबाइल या कंप्यूटर में आपको show कर देगा. तो इस तरह से आप bloomtutorial.com का पेज अपने फ़ोन में आपको दिख जायेगा।

ये इंटरनेट पर होने वाले सभी कामों में हमारी help करता है. चाहे वो कोई मूवी डाउनलोड करना हो , इस के अलावा email, msg, online voice call, video call इन सभी कामों को करने में हमारी मदद करता है. सारी information और data को यही हम तक लेके आता है। सर्वर जो भी काम करता है उसके बीच में बहुत से प्रोसेस होते हैं जैसे ip address, clients, domain name, ports और protocols.

  • Communication with server – आपने देखा होगा जब भी आप किसी browser में कोई URL type करते है. जैसे bloomtutorial.com तो browser उस website को host करने वाले server के साथ connect कर देता है। जिसकी वजह से आपके browser पर website का सारा data show हो जाता है।
  • Breaking of URL – इसके बाद browser उस url को जो आपने डाला उस URL को तीन parts में divide कर देता है मतलब break कर देता है.first है Protocol (HTTP) second है Server-name (www.bloomtutorial.com) and third and last File name (server-kya-hai)
  • Converting Server-name to IP Address – url को break करने के बाद ब्राउज़र उस वेबसाइट के server name को IP address में translate कर देता है। हर एक website का अपना एक अलग और unique IP Address होता है, जिसके वजह से ही ब्राउज़र किसी server से connect हो पाता है।
  • Send and Receive requests – browser और server जब आपस में connect हो जाते है तो browser आपकी request को server तक पहुँचाता है। server आपकी request किये गए web page को एक HTML Document के रूप में present करता है। यहाँ web browser files के data को एक web page में convert कर देता है, और आपको information show कर देता है।

Server Down का मतलब क्या है ?

अगर आपने कभी notice किया हुआ bank या फिर आप अगर किसी IT Field में है तो आपने देखा होगा या सुना होगा की अभी server down है , इसका मतलब है की server not found या server not responding जैसे msg देखने को मिलते है , उस time पर users server से connect नहीं हो पाता। इसके बहुत से reason हो सकते है , जिनमे से कुछ है Network problem, Application crash, operating system crashes, power failure, DOS attack है।

आपने क्या जाना ?

हमें उम्मीद है, अब आपको जरूर समझ में आ गया होगा कि Server क्या है (What is server) और ये किस तरह काम करता है? अगर आप एक Computer science या IT field के student है या job करते है , तो आपके लिए यह article बेहद useful रहा होगा। अगर आप server के बारे में और जानकारी लेना चाहते है तो आप हमें comment करके बता सकते है,हम कोशिश करेंगे आपके हर सवाल का जवाब देने की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here