Relational Database Kya Hai? – What is Relational Database in Hindi?

0
19
Relational Database Kya Hai
Relational Database Kya Hai

Relational Database Kya Hai? – What is Relational Database in Hindi? Hello Friends आज हम Database का एक Type जो की है Relational Database , आपने database के बारे में तो सुना ही होगा। जैसा की आप जानते होंगे Internet पर हम जो भी Website या App पर देखते है वो Data कहीं न कहीं Store होता है , जिसको Database कहा जाता है।

Database कई तरह के होते है लेकिन आज हम Relational Database के बारे में बात करने वाले है। और उसके साथ साथ हम इसके Advantage और Disadvantage के बारे में भी बताने वाले है और इसके क्या क्या Features है इसमें क्या क्या Limitations है , ये सब आज हम इस एक आर्टिकल के जरिये जानेंगे।

तो चलिए जानते है अब इस आर्टिकल के जरिये Relational Database Kya Hai? – What is Relational Database in Hindi?

रिलेशनल डेटाबेस क्या है? – What is Relational Database in Hindi?

रिलेशनल डेटाबेस का मतलब डेटाबेस से ही है जहाँ पर Data को Table के रूप में अलग अलग Manage किया जाता है। ये अलग अलग Tables एक दूसरे से Related होती है , और अगर इनको link करने की जरुरत पड़ती है तो Link किये जा सकते है।

रिलेशनल डेटाबेस मॉडल की Help से Data को Easily Maintain किया जा सकता है और साथ ही अगर Data को Fetch करने की जरुरत पड़ती है तो Easily किया जा सकता है।

relational database example

Relational Database Advantages & Disadvantages – रिलेशनल डेटाबेस के लाभ और हानि

रिलेशनल डेटाबेस (RDB) का Use आज कल बहुत होने लगा है, और जितने भी मॉडर्न DBMS सिस्टम बनाये जाते है वो Relational Database Model को ध्यान में रख के बनाये जाते है।

इस तरह के Database Model में Advantages के साथ साथ कई तरह की कमियां भी देखने को मिली है। तो चलिए जानते है रिलेशनल डेटाबेस के फायदे और नुकसान के बारे में।

रिलेशनल डेटाबेस के लाभ – Advantages of Relational Database in Hindi

  • Data Redundancy को कम करता है : इसके अंदर Data Duplicate होने की Problem देखने को नहीं मिलती है क्योँकि इसमें हर Table में एक Specific Data होता है और जब कभी भी जरुरत होती है तो इन अलग अलग Tables के Data को Link किया जा सकता है और Easily Access किया जा सकता है।
  • Data Secure : इस Database में Data सुरक्षित रहता है क्योँकि इस तरह के डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम के अंदर डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर के पास कुछ Special Users को Data Access देने का Rights होते है , जो की Data को Secure रखता है।
  • Flexibility : – इस तरह के Database में आप जितने चाहे उतने Tables Create कर सकते है और उनके Sizes को बड़ा सकते है और साथ ही आप इन सभी Tables को Link कर सकते है।
  • Multiuser : – इस तरह के Database में एक ही Time पर कई Users एक रिलेशनल डेटाबेस को access कर पाते है। और साथ में ही जब भी Data को Update किया जाता है तो उस Time भी Users Easily Access कर सकते है।

रिलेशनल डेटाबेस के नुकसान – Limitations of Relational Database in Hindi

  • Structured Limits : – इस तरह के Database में Data Field की Length को पहले से Define कर दिया जाता है। होता क्या है अगर आप किसी Field में Limits से ज्यादा Data या Information Fill करते है तो Data के Miss होने के Chances हो जाते है।
  • Expensive Cost : – RDBMS का Setup और Maintenance बहुत महंगा रहता है , जो की सबके लिए या फिर छोटे Business Man के लिए उसे Use करना और खरीदना Easy नहीं होता है। लेकिन इसको Start करने के लिए आपको इसे खरीदने की जरुरत पड़ती है। और इसको Set करने के लिए SQL या फिर Structured Query Language में Expert और Professional Databse Administrator या Programmer की Need होती है।
  • Chances of Data Loss : – बड़ी बड़ी organizations में बहुत सी Tables के साथ बहुत ज्यादा Database System का Use किया जाता है। ये सभी Information को एक System से दूसरे System तक Transfer करने के लिए Use किया जाता है। लेकिन ज्यादा Tables होने की वजह से Data को Transfer करते समय Data के Miss और Loss होने के Chances होते है।
  • Flutter Kya Hai? | What is Flutter in Hindi | पूरी जानकारी 2021
  • React JS Kya Hai? | React JS Tutorial In Hindi | React JS In Hindi
  • Node JS Kya Hai? | Node JS Tutorial In Hindi | Node JS In Hindi
  • React Bootstrap Kya Hai? | React Bootstrap Tutorial In Hindi

रिलेशनल डेटाबेस की विशेषताएं – Relational Database Features in Hindi

  • यह Assured करता है की सारे डाटा को Rows और columns के form में store किया गया हैं।
  • RDBMS में सारे Data को Table में Store किया जाता है।
  • Queries को Virtual Table की Help से Simplify किया जा सकता है।
  • Normalization Process की Help से डाटा को बिना Redundancy के डेटाबेस में Organize कर सकते है।
  • Primary key का Concept Use किया जाता है हर एक Row को Unique Identification देने के लिए।

RDBMS क्या है? (Relational Database Management System in Hindi)

RDBMS मतलब की Relational Database Management System ये एक ऐसा सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम है , जो की एक Interface की तरह काम करता है एक यूजर, एप्लीकेशन और डेटाबेस के बीच में।

RDBMS की Help से हम एक Database को Create , Update, Delete, और Data Retrieve जैसे कई सारे Operations को Perform कर सकते है और इसी की Help से हम Database को Manage कर पाते है।

ये सभी Operations को Run कराने के लिए Mostly RDBMS systems के Through SQL programming का Use करते है और हर एक Function और Operation के लिए अलग अलग Queries लिखी जाती है।

Conclusion

इस पोस्ट में हमने आपको बताया है कि Relational Database क्या होता है ? Relational Database Advantages & Disadvantages , Limitations of Relational Database in Hindi , Relational Database Features in Hindi हमें उम्मीद है Relational Database से जुडी जानकारी मिल गयी होगी, अगर आपको Relational Database को लेकर किसी भी तरह के कोई भी Question है तो आप हमें नीचे Comment कर पूछ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here