End to End Encryption Kya Hota Hai? | kaise kaam karta hai

0
617
end to end encryption kya hai
end to end encryption kya hai

End to End Encryption Kya Hota Hai? : Hello friends अगर आप एक whats aap user है तो आपने end to end encryption के बारे में जरूर सुना होगा। आज के इस article में हम आपको end to end encryption के बारे में बताएंगे की end to end encryption क्या है ? कैसे काम करता है इसके क्या advantages है और क्या disadvantages है।

End to End Encryption एक कमाल की चीज़ है जिससे user के data को safe and secure रखा जाता है। इसको बनाया ही इसलिए गया है जिससे कि user की personal चीज़ों को secure रखा जा सकें।

ये एक ऐसा secure process होता है जो आपको privacy का मतलब बताता है ये एक सुरक्षा कवच की तरह हमारे data को secure रखता है। ये एक ऐसे privacy policy है जिसको साइबर क्रिमिनल्स और हैकर्स भी कभी crack नहीं कर सकते।

End to End Encryption क्या है ?

End to End Encryption Kya Hota Hai? : ये एक ऐसा process होता है जिसमें आप जब किसी को कोई infirmation share करते हो msg के through चाहे वो कोई audio हो या video या कोई msg text वो encrypt होने के बाद एक code के form में जाता है इससे क्या होता है ये msg वो ही read कर सकता है जिसको आपने send किया है। इसके अलावा इसको कोई third party read नही कर सकती है।

encryption

जैसे हम whats app use करते है mostly हम लोग अपनी सारी personal बातें ओर information daily किसी न किसी को share करते ही रहते है, तो जो msg हम whats app के through किसी को send करते है वो सब encrypted होता है और एक code के form में send होता है जिससे कि whats app भी आपके msg को read नही कर सकता है।

End to End Encryption काम कैसे करता है ?

End to End Encryption क्या है ये तो हमने जान लिया but ये काम kaise करता है जरा ये भी जान लेते है ।

End To End Encryption दो चीज़ों पर based है ,जब भी आप किसी को किसी app या messanger के through msg करते है तो वो आपको एक feature provide करता है ,bascially वो दो तरह की key generate करता है।

  • Public Key
  • Private Key
xml kaise kaam karta hai

Public Key कुछ इस तरह काम करती है जैसे मान लीजिये आपने किसी को कोई msg send किया है या किसी भी तरह की कोई details , public key का काम उस msg को Encrypt करना है मतलब उसको code की form में convert करना। convert होने के बाद वो msg जिस aap को आप use कर रहे है उसके server पर जयेगा। server पर जाने के बाद msg उस तक चला जायेगा जिसको आपने send किया है।

sms receiver के पास एक Private Key नाम की key होती है जिसके through वो code को Decrypt करके पहले वाले msg की तरह बना देते है और इसी तरह से बाकि की details जो भी आप send करते है इस तरह से काम करते है।

तो चलिए एक example लेते है उससे थोड़ा और clear हो जायेगा मान लीजिये आप ने अपने किसी friend को मैसेज किया है ,आपका भेजा हुआ मैसेज Photo हो या फिर Text, वो एक code बन जाता है और जिसको आपने send किया है उसके पास जाके वो कोड Convert हो के जो आपने मैसेज भेजा है वो बन जाता है।

इन्हे भी पढ़ें-

Advantage Of End To End Encryption – ( End To End Encryption के फायदे )

  • आपका data Encryption के through बिलकुल safe और secure रहता है।
  • ये आपके data को hackers से hack होने से बचाता है।
  • Bank से जुडी कोई भी जानकारी अगर आप किसी को send करते हो तो End To End Encryption उसके लिए बहुत ज्यादा secure है।
  • अगर आप किसी को Video Call या फिर Voice Call करते है तो उसके लिए भी एन्ड टू एन्ड एन्क्रिप्शन safe है।

Disadvantage Of End To End Encryption – ( End To End Encryption के नुकसान )

  • इस feature को use करके कई लोग बहुत सारे illegal काम भी करते है।
  • online backup जैसे features आपको एन्ड टू एन्ड एन्क्रिप्शन features वाले Apps में नहीं मिलते है। ये आपके mobile में हर दिन या फिर एक week के हिसाब से Backup रखती है।
  • ज्यादातर frod करने वाले लोग WhatsApp जैसे End To End Encryption का use करते हैै जिसे कोई भी पकड़ नही पाता है।

Encryption को Support करने वाली Messaging Application

  1. Zoom
  2. WhatsApp
  3. Telegram
  4. Viber
  5. LINE
  6. Signal – Private Messenger
  7. Dust
  8. Wicker Me
  9. Facebook Messenger
  10. Pryvate Now

End To End Encryption कहाँ कहाँ Use होता है ?

इसक use mostly online aplications के लिए किया जाता है। जैसे आपको किसी से कोई private या personal details share करनी है या बात करनी है text msg ,images ,video call , voice call सब कुछ 100% Secure होता है।

आपने क्या जाना ?

इस लेख के जरिये आपने जाना कि एन्ड टू एन्ड एन्क्रिप्शन Kya Hai ? ,कैसे काम करता है ? और इसके क्या advantage और disadvantage है। .आशा है यह लेख आपके लिए helpful रहा होगा । अगर आपको मन में एन्ड टू एन्ड एन्क्रिप्शन से Related किसी भी तरह के कोई भी question है तो आप हमें नीचे comment कर पूछ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here