C Language Kya Hai? – What is C Language In Hindi

0
55
c language kya hai
c language kya hai

C Language Kya Hai? – What is C Language In Hindi : – Hello Friends आज के इस आर्टिकल में हम आपको एक सबसे पुरानी Programming Language के बारे में बताने जा रहे है। हम बात कर रहे है C Programming Language की , ये सबसे पुरानी Programming Language है।

जिससे सिख कर आप एक बढ़िया Programmer बन सकते हो और साथ ही Software, Processor और Operating System भी Design कर सकते हो। तो चलिए जानते है की इसका Use कहां किया जाता है और C Language क्या है?

C Language क्या है? – Introduction of C Language in Hindi

C Language एक High Level और General Purpose Programming Language है जिसको 1972 में USA में Dennis Ritchie ने develop किया था। C language को खासतौर पर System Software और Operating System को Develop करने के लिए तैयार किया गया है।

UNIX Operating System इसका सबसे पहला Application है और इसको जिस Language में लिखा जाता है वो C language है। अगर आप कोई दूसरी Programming Language सीखना चाहते है तो उसके लिए पहले आपको C को सीखना बहुत जरुरी है।

C एक बहुत ही Popular Programming Language में से एक है। और C के बाद जितनी भी Programming की जाती है उसके अंदर कहीं न कहीं C के Feature भी होते है।

इन्हे भी पढ़े : –

Characteristics & Features of C Language in Hindi

  • C language एक Case Sensitive Language है।
  • C High Level और Low Level दोनों ही तरह के Program को बनाने में Capable होती है।
  • C Program में आप इसकी Library के Through कभी भी कोई नए Features Add कर सकते है और ये एक Extendable Language है।
  • Assembly Language के बाद सबसे Fast C Language ही मानी जाती है।
  • ये एक Flexible Language होती है जो की आपको 32 keywords Provide करती है , और इन सब Keyword का काम Program की Language को Control Provide करना होता है। और ये सभी Keyword Program के Structure को Modify करने में Help करते है।
c language kya hai

Limitation Of C Language in Hindi

  • C language में Object Oriented का Concepts नहीं रखा गया है।
  • Constroctors और Destructors का Concept भी C Language में नहीं है।
  • C language में Exceptions को run time में Handle नहीं किया जा सकता।
  • Namespaces का Concept भी C Language में नहीं है जिसकी वजह से Different Different Programmers के Code को एक ही Project पर Use नहीं किया जा सकता है।

Applications Of C Language in Hindi

  • C language में Text Editor भी Create कर सकते है , जैसे gedit आदि
  • C language में नेटवर्क Drivers भी Easily Create कर सकते है।
  • C language में Different Types के Assemblers भी Create किये जाते है Assembler का काम Basic Instructions को Bits में Convert करना होता है।
  • Mostly Operating System C Language से ही तैयार किये जाते है जैसे UNIX ,Window आदि।

इन्हे भी पढ़े : –

Conclusion

इस आर्टिकल में हमने आपको C Language के बारे में बताये। उसके साथ साथ C Language की क्या Characteristics & Features , Limitation होती है ? उम्मीद है आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। C Language से जुड़ा कोई भी सवाल आपके मन में है तो आप हमे Comment करके पूछ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here