Angular JS Kya Hai ? | Angular JS Tutorial In Hindi | Angular JS In Hindi

0
287
angular js kya hai
angular js kya hai

Angular JS Kya Hai ? | Angular JS Tutorial In Hindi | Angular JS In Hindi : – Hello Friends ! आज इस Article में हम AngularJS के बार में जानेंगे। AngularJS एक Javascript Framework है , जिसका Use Web Applications बनाने के लिए किया जाता है।

ये बहुत ही Strong Javascript Framework है। इसका Use Single Page Application (SPA) Projects में भी किया जाता है। AngularJS HTML DOM के कुछ Attributes को भी Extend करने का काम करता है।

angular js kya hai

AngularJS एक Javascript पर आधारित Open Source Frontend Framework है , जिसको 2009 में AngularJS Google कंपनी के कर्मचारी Misko Hevery ने Create किया था। पहले Single-Page Application को बनाने में बहुत सी Problem आती थी। इस परेशानी को ही हल करने के लिए ही Design किया गया था।

तो चलिए जानते है की AngularJS Kya hai ? AngularJS का क्यों इस्तेमाल किया जाता है ? AngularJS के features क्या है ? AngularJS के advantages क्या है?

AngularJS क्या है ? – What is AngularJS In Hindi

AngularJS JavaScript का एक Framework है , जो की आज कल बहुत Popular होने के साथ साथ बहुत Use भी हो रहा है। लगभग हर Company इसका Use करती है , चाहे वो Company छोटी हो या फिर बड़ी सब इसका Use करने लगे है। अगर आप भी AngularJS को सिखने के बारे में सोच रहे है तो उससे पहले आपको HTML , CSS और JavaScript को सीखना होगा।

जैसा की आप जान चुके है की AngularJS एक open-source web application framework है | जिसे 2009 में Misko Hevery और Adom Abrons Create किया गया था , और अब इसको Google के Through maintain किया जा रहा है | AngularJS का लेटेस्ट version 1.8.x है।

angular js kya hai

इसका एक ही Aim है Development और Testing के Process को Easy करना। और इसका Use single-page web applications को Create करने के लिए भी किया जाता है।

इसमें Data-binding और Dependency Injection जैसे Features होने की वजह से Code बहुत ही छोटा और Easy हो जाता है। इसको Use करके Dynamic Web Application भी Create किये जाते है।

जैसा कि आप ऊपर पढ़ चुके है हैं कि AngularJS एक जावास्क्रिप्ट फ्रेमवर्क है। इसे हम <script> टैग के साथ HTML पेज में Add करते हैं। AngularJS HTML को Directives के Through द्वारा Extend करता है और HTML में डेटा को Expressions में Bind करता है। AngularJS को Two Way Data Binding,Dependency Injection जैसे Features को Support करता है जिससे Interactive Web Application आसानी से बनायीं जा सकती है।

AngularJS से Static HTML पेज को Easily Dynamic किया जा सकता है। AngularJS MVC Architecture पर Based है । MVC एक General Designing Pattern है जिसका Use डेवलपर करते है, वेब एप्लिकेशन बनाने के लिए। AngularJS का Scope धीरे धीरे बढ़ता ही जा रहा है, और आज मार्केट में AngularJS का काफी ज्यादा क्रेज है, और जिसकी वजह से इसके Developers की मांग Market में भी काफी बढ़ती जा रही है।

Download Angular JS – Angular JS कहाँ से डाउनलोड करे?

अगर आप AngularJS को डाउनलोड करना चाहते है तो आप AngularJS को उसकी Official Website से उसे Download करने के बाद Use कर सकते है।

Angular JS code example

<html>    
<head>    
   <title>AngularJS Application</title>    
</head>    
    <body>      
 <h1>Sample Application</h1>       
       <div ng-app = "">         
 <p>Enter your Name: <input type = "text" ng-model = "name"></p>         
 <p>Hello <span ng-bind = "name"></span>!</p>    
   </div>             
 <script src = "https://ajax.googleapis.com/ajax/libs/angularjs/1.3.14/angular.min.js">       </script>        
   </body> 
</html>
angular js features in hindi

Angular JS के features – features of Angular JS in Hindi

  • इसकी Help से हम Rich Internet Applications (RIA) को आसानी से बना सकते है , क्योंकि ये एक Efficient Framework है।
  • AngularJS किसी भी वेबसाइट को बहुत आकर्षक और सुंदर बनाने में मदद करता है, क्योंकि इसमें Database से जो डेटा हम वेबसाइट पर Show कराते है, वो डेटा Programmer के Control में होता है।
  • इसकी Help से आप Android App और IOS App भी आसानी से बना सकते है। इस तरह के App बनाने के लिए और किसी Programing Language की जरुरत नहीं होती है। एक इसकी Help से ही अलग अलग Applications बना सकते है। मोबाइल एप्लिकेशन बनाने के लिए हमे Ionic फ्रेमवर्क के साथ AngularJS का Use कर सकते है।
  • इसकी मदद से Application Development के काम को Model View और Controller में Divide किया जा सकता है, जिससे एप्लीकेशन डेवलपमेंट का काम थोड़ा हल्का हो जाता है।
  • ये Controller का Use करके JavaScript Function को Scope से जोड़ता है।
  • इसमें बहुत से built-in services है जैसे की $http जिससे XML Http Request की जाते है।
  • AngularJS developers को client-side application बनाने में बहुत Help करती है , MVC ( Model View Controller) तरीके से
angular js

Angular JS के Advantage – Advantages of Angular JS in Hindi

  • ये एक Open Source Framework है इसमें आपको Errors और Problems का सामना नहीं करना पड़ेगा आप इसे कम से कम Errors के बिना आराम से Use कर सकते है।
  • AngularJS को Google Supported करता है।
  • ये सिर्फ Required Content को ही Load करता है और बहुत Fast काम करता है। AngularJS Ajax के साथ मिलकर काम करता है।
  • ये MVC डिजाइन पैटर्न को भी Support करता है।
  • इसका पूरा Code Javascript और HTML के Through किया जाता है , और इससे समझने के लिए किसी और Scripting Language या Programing Language की जरुरत नहीं होती है।
  • इसमें Built-In Attributes Directives हैं जो HTML Page को डायनामिक करने में Help करती है।
  • AngularJS Dependency Injection का Use करता है।
  • AngularJS Single Page Applications Create करने के लिए बनाने के लिए एक बहुत ही बढ़िया फ्रेमवर्क है।
  • AngularJS Data और Model को Expression के साथ Bind करने में मदद करता है।

Angular JS के Disadvantage – Disadvantages of Angular JS in Hindi

  • Javascript Based Framework होने की वजह से , इसमें लिखा गया Application ज्यादा Secure नहीं रहता है। Server-Side Authentication Application को Safe रखने के लिए जरूरी है।
  • और अगर Application को Use करने वाला User JavaScript को Disable रखता है ,तो उसको एक Simple Page की सिवा कुछ नहीं दिखेगा।

Conclusion

इस Tutorial में, हमने आपको बताया है AngularJS क्या है? कैसे काम करती है इसके क्या Features है जिसकी वजह से इतनी Popular हो गयी है। उम्मीद है यह लेख आपके लिए Helpful रहा होगा । अगर आपको मन में AngularJS से Related किसी भी तरह के कोई भी Question है तो आप हमें नीचे Comment कर पूछ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here